Sukanya Samriddhi Yojana: सुकन्या समृद्धि योजना की बढ़ी ब्याज दर

Abhishesh
3 Min Read

नए साल से पहले ही, सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) में निवेश करने वाले लोगो के लिए एक बड़ी अपडेट दी है। इस योजना के तहत, वित्त वर्ष 2023-24 की चौथी तिमाही के लिए सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर को 8.2 प्रतिशत बढ़ा दिया गया है, जोकि पहले 8 प्रतिशत था। पहले निवेशकों को 8 फीसदी ब्याज की सुविधा दी जाती थी, लेकिन इस नए बढ़ाए गए ब्याज दर के साथ, यह योजना निवेशकों के लिए और भी आकर्षक बन गई है।

हालांकि, इसके बावजूद, सरकार ने अन्य योजनाओं की ब्याज दरों में कोई बढ़ोतरी नहीं की है, जिससे वे अपनी विभिन्न निवेश योजनाओं को स्थिर रख रही हैं। यह निर्णय सुकन्या समृद्धि योजना को मजबूती और सुरक्षित बनाए रखने के साथ-साथ, अन्य निवेश विकल्पों को भी समाहित रखता है।

और किसी योजना की नही बढ़ी ब्याज दर

सरकार ने अपनी लघु बचत योजनाओं के लिए वित्त वर्ष 2023-24 की चौथी तिमाही में नई ब्याज दरें घोषित की हैं, लेकिन ध्यान दने योग्य बात यह है कि इस अद्यतित घोषणा में सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) को छोड़कर किसी भी अन्य योजना की ब्याज दरें नहीं बढ़ाई गई हैं। इसके बजाय, सुकन्या समृद्धि योजना के लिए जनवरी से मार्च तिमाही के दौरान ब्याज दर को 8.2 प्रतिशत बढ़ाकर नई ऊंचाइयों की ओर कदम बढ़ाया गया है।

साल में 2 बारे बड़ी सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दरें

Sukanya Samriddhi Yojana

इस वित्त वर्ष, यह सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के लिए सरकार द्वारा दूसरी बार है जब वे ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी की हैं। पहली तिमाही के दौरान, सरकार ने इस योजना की ब्याज दर को 7.6 प्रतिशत से बढ़ाकर एक और कदम बढ़ाकर 8 फीसदी कर दिया था। इस साल की दूसरी बढ़ाई गई ब्याज दर से, सरकार ने निवेशकों को योजना में और भी आकर्षित करने का प्रयास किया है।

फिक्स्ड डिपोजिट स्कीम की ब्याज दरों में भी बदलाव

फिक्स्ड डिपोजिट स्कीम के ब्याज दरों में भी विशेष बदलाव हुआ है। सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के साथ, तीन साल की सावधानी जमा पर मौजूदा ब्याज दर को सात प्रतिशत से बढ़ाकर 7.1 प्रतिशत किया गया है। इसके अलावा, पीपीएफ और बचत जमा पर ब्याज दरें क्रमश: 7.1 प्रतिशत और चार प्रतिशत पर बनी हुई हैं।

किसान विकास पत्र की ब्याज दर 7.5 प्रतिशत है, और इसकी मैच्योरिटी अवधि 115 महीने है। राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (एनएससी) पर 1 जनवरी से 31 मार्च, 2024 के लिए बनाए गए ब्याज दर 7.7 प्रतिशत है, जो पहले की तरह है। मासिक आय योजना (एमआइएस) के लिए ब्याज दरों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। source:- itzev.com

Share This Article
Leave a comment

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *